Breaking News

loading...

रिफाइंड ऑयल के सेवन के है इतने खतरनाक नुकशान जानके होश उड़ जायेंगे आपके

आजकल ज्यादातर घरो में खाने में रिफाइडन आयल का इस्तेमाल किया जाता है इसके पीछे लोगो की धारणा है की ये कम चिपकता है और इसके इस्तेमाल भी कम होता है। 


कई बड़ी रिफाइंड आयल कम्पनियाँ दावा करती है की ये तेल फेट फ्री और कोलेस्ट्रॉल फ्री होता है लेकिन क्या आप जानते है की असल में कोलेस्ट्रल फ्री होने का दावा करने वाले इन तेलों में कई हानिकारक तत्व मौजूद रहते है जो आपकी हड्डियों को कमर बनाते है और साथ में आपकी स्किन को भी नुकशान पहुंचाते है। 


आज हम आपको बताते है की रिफाइंड आयल सेहत के लिए खतरनाक  क्यो होता है दरअसल खाद्य तेलों को रिफाइन करने के लिए कई तरह के रसायनो का प्रयोग किया जाता है जहा किसी भी तेल को रिफाइन करने में 6  से 7 तरह के रसायन का प्रयोग किया जाता है वही डबल रिफाइंड आयल में इनकी संख्या 12 से 13 हो जाती है। 


 इन रसायनो में एक भी रसायन ऑर्गेनिक नहीं होता है अन्य रसायनो के साथ मिलकर ये जहरीले तत्वों का निर्माण करते है जोशरीर में कैंसर के तत्वों का निर्माण करते है शोध के अनुसार रिफाइंड तेलों  के बजाय  पारंपरिक खाद्य तेल का प्रयोग अपेक्षाकृत अधिक सेहतमंद होता है। 


 कॉलेस्ट्रॉल से बचने के लिए हम जिस रिफाइंड तेल का प्रयोग करते हैं, वह हमारे शरीर के आंतरिक अंगों से प्राकृतिक चिकनाई भी छीन लेते हैंजिसे शरीर को कई समस्याओ का सामना करना पड़ता है रिफाइंड आयल के इस्तेमाल से शरीर से चिकनाई चली जाती है और हड्डियों में दर्द होने लगता है। 


 लम्बे समय तक इसके सेवन से घुटनो और जोड़ो में दर्द रहने लगता है इससे अस्थि‍मज्‍जा को भी नुकसान पहुंचता है रिफाइंड तेलों का प्रयोग नुकसानदेह हो सकता है क्योंकि रिफाइनिंग की प्रक्रिया में तेल को अत्यधिक तापमान पर गर्म किया जाता है जिससे उनका क्षरण होता है और जहरीले पदार्थ पैदा होते हैं। 

इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद

No comments