Breaking News

loading...

इन चीजों के सम्पर्क में आने से होती है अस्थमा जैसी खतरनाक बीमारी ,खाने -पिने का इस तरह से रखे ध्यान

अस्थमा खतरनाक बीमारी मानी जाती है अस्थमा होने का सबसे बड़ा कारन मौसम के बदलाव ,धुल मिटटी ,प्रदूषण और धुआँ है। 


 इसकी वजह से छाती में जकड़न ,खांसी ,नाक की घरघराहट और साँस लेने में दिक्क्त होने लगती है अस्थमा काफी गंभीर बीमारी है अस्थमा की वजह से इंसान की जान भी जा सकती है। 


इस बीमारी में साँस लेने में दिक्क्त आती है अस्थमा होने पर इन नलिकाओं में सूजन आ जाती है जिससे ये सिकुड़ जाती है और फेफड़ो तक हवा नहीं पहुंच पाती है इसके चलते रोगी क सांसे लेने में परेशानी आने लगती है अस्थमा की बीमारी को परुई तरह से ठीक तो नहीं किया जा सकता लेकिन इसे कंट्रोल जरूर किया जा सकता है। 


  भावनात्मक रूप से आहत होने पर भी अस्थमा के अटैक की संभावनाएं बढ़ जाती हैं इसके अलावा घास, लकड़ी, गैस, पेंट, स्मोकिंग और रसायनिक चीजों की गंध से भी अस्थमा का अटैक पड़ सकता है अस्थमा होने पर खान पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए जैसे ब्रेड ,पास्ता ,केक और पेस्ट्री के सेवन से बचना चाहिए इसके अल्वा मूंगफली ,सोयाबीन ,मछली ,अंडे ,दूध से बने उत्पादों से अस्थमा अटेक की संभावना काफी होती है। 


अस्थमा होने पर लगातार छींक आना ,साँस फूलना, छाती में खिंचाव महसूस होना जैसे लक्षण नजर आते हैं वही अस्थमा से बचने के लिए खाने में ताजे फल ,सब्जिया ,दलिया ,ब्राउन राईस और साबुत अनाज जरूर शामिल करे अगर आपको अस्थमा है तो शुकन्दर ,ठंडा पेय पदार्थ, डेरी उत्पाद, रेड मीट, सफेद आटा आदि न खाएं योगा, एक्यूपंक्चर और एक्सरसाइज अस्थमा को नियंत्रित करने में मदद करता है। 


इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद

No comments