Breaking News

loading...

यहाँ जाने इस्लाम की उन बड़ी सच्चाइयो के बारे में जो अभी तक छुपाई गयी है पूरी दुनिया से

इस्लाम दुनिया के सबसे नए धर्मो में से एक है जिसे आज से सेंकडो साल पहले सातवीं शताब्दी में मोहम्मद ने अरब ने मक्का में लोगो को इससे रूबरू करवाया था। 


लेकिन फिर भी कहा जाता है मोहम्मद के जन्म से पहले ही इस्लाम इस दुनिया में आ चूका था मोहम्मद तो केवल एक जरिया था जिसके कारन आज  पूरी दुनिया कुरान से परिचित है आज हम पको इस्लाम के की कुछ सच्चाइयो के बारे में बताते है जो आज तक पूरी दुनिया  से छुपाई  गयी है। 


1 इस्लाम धर्म सिर्फ पूर्वी देशो तक सिमित नहीं था आज तक लोगो से इतना बड़ा सच छिपाया गया है की आम धारणाओं के अनुसार इस्लाम धर्म काफी लम्बे समय तक पश्चिमी देशो में आया ही ही नहीं था और यह सिर्फ पूर्वी देशो तक सिमित था लेकिन सच्चाई कुछ और है इस्लाम सदियों से यूरोपीय इतिहास का केंद्रीय हिस्सा रहा है  मुस्लिम स्कॉलर्स ने बताया कि मध्यकालीन यूरोप और इस्लाम के बीच संबंधो के इतिहास को दो दुनिया के संबंध के इतिहास में देखना बुनियादी गलती है। 


2 इस्लाम में  शरीर पर बारूद बांधकर किसी को मरना पाप है यह विडंबना है है की कुछ लोग इस काम को सही ठहराते है लगभग सभी मुस्लिम स्कॉल्र्स ने आत्मघाती हमला करने वाले धर्म से नहीं बल्कि राजनीति और राष्ट्रवाद के उद्देश्य से प्रेरित हो कर ऐसे कदम उठाए हैं जिनकी वजह से अनजाने में वह अपने धर्म की बदनामी कर रहे हैं लेकिन एक रथ से देखा जाये तो ये सब बेगुनाह ही है इन सभी को आतंकवादियों ने धर्म के नाम पर राजनितिक मोहरा बनाया है। 


3 इस्लाम में बुरखे को सांस्कृतिक परम्परा माना गया है इस्लामी जरूरत नहीं माना जाता है की इस्लाम में शालीनता बरकरार रखने के लिए महिलाओ का बुरका पहनना अनिवार्य है कुरान महिलाओं और पुरुषों के लिए सलीके से कपड़े पहनने की बात करता है लेकिन कुरान में कही भी इस बात का जिक्र नहीं ऐ कि चेहरा ढँकना जरूरी है ज्यादातर मुस्लिम स्कॉलर्स का मानना है कि बुरखे का चलन धार्मिक कारण से नहीं बल्कि सामाजिक परंपराओं की वजह से हुआ था जिसके कारन महिलाये अपना चेहरा ढकने के लिए मजबूर। 


इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद

No comments